स्वास्थ्य विभाग का रिश्वतखोर बाबू धराया, लोकायुक्त ने 10 हजार घूस लेते हुए पकड़ा, विकलांग प्रमाण पत्र देने के बदले मांगे थे पैसे

स्वास्थ्य विभाग का रिश्वतखोर बाबू धराया, लोकायुक्त ने 10 हजार घूस लेते हुए पकड़ा, विकलांग प्रमाण पत्र देने के बदले मांगे थे पैसे

कटनी। मध्यप्रदेश में रिश्वतखोरों पर लगातार शिकंजा सका जा रहा है, इसके बाद भी भ्रष्ट कर्मचारी बाज नहीं आ रहे हैं। ताजा मामला कटनी जिले से सामने आया है। जहां एक बाबू को लोकायुक्त की टीम ने 10 हजार रूपए रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया है।
          कटनी में जबलपुर लोकायुक्त टीम ने स्वास्थ्य विभाग के बाबू शशिकांत तिवारी को 10 हजार की रिश्वत लेते हुए पकड़ा है। जिला अस्पताल में विकलांगता कक्ष में बाबू शशिकांत ने विकलांग प्रमाण पत्र के बदले रिश्वत की मांग की थी, लेकिन फरियादी ने समझदारी दिखाते हुए इसकी शिकायत लोकायुक्त से कर दी। इसके बाद लोकायुक्त ने इसकी जांच करवाई तो शिकायत सही पाई गई और आज टीम ने जाल बिछाकर रिश्वतखोर बाबू को रंगे हाथ दबोच लिया। इस कार्रवाई से अन्य कर्मचारियों में हड़कंप मचा हुआ है। फिलहाल टीम आगे की कार्रवाई कर रही है।


          बता दें कि कटनी स्वास्थ्य विभाग में 15 दिन के अंदर यह दूसरी कार्रवाई है। इस बात से आप अंदाजा लगा सकते है कि जिले में किस तरह भ्रष्टाचार हो रहा है। इस बात से भी मना नहीं किया जा सकता कि बिना घूस दिए सरकारी काम नहीं होते।