बाघ के हमले से 9 साल की बच्ची की मौत, खेत में खेलते समय परिजनों के सामने घसीटकर ले गया, आसपास गांवों में करीब 25 बाघों का है मूवमेंट

बाघ के हमले से 9 साल की बच्ची की मौत,  खेत में खेलते समय परिजनों के सामने घसीटकर ले गया, आसपास गांवों में करीब 25 बाघों का है मूवमेंट

शहड़ोल। मध्य प्रदेश के शहडोल जिले के वन क्षेत्र जय सिंहनगर में एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है. जहां अपने दादी और बहन के साथ खेत गई 9 साल की बच्ची पर परिजनों के सामने बाघ ने हमला कर दिया. बच्ची को घसीटकर ले गया. जिससे मासूम की मौत हो गई. घटना के बाद से क्षेत्र में दहशत का माहौल है.
          मिली जानकारी के अनुसार जयसिहंनगर वन परिक्षेत्र करकी सर्किल के घियार बीट के कक्ष क्रमांक P-341 से लगे राजस्व भूमि के पास यह घटना हुई है. ग्राम थाडीपाथर निवासी 9 साल की बच्ची पूनम सिंह अपने दादी और बहनों के साथ खेत के पास खेल रही थी, तभी अचानक बाघ ने हमला कर दिया. सबकी मौजूदगी में बच्ची को घसीटता बाघ ले गया. बाघ के चंगुल से छुड़ाने के लिए परिजनों ने हल्ला किया, तब कही बाघ बच्ची को छोड़कर वहां से भाग निकला.
         परिजनों से बाघ से बच्ची को तो छुड़ा लिया, लेकिन उसकी जान नहीं बचा सके. हमले में मासूम की मौत हो गई. बाघ अभी घटना स्थल से कुछ दूरी पर ही विचरण कर रहा है. 20 से 25 बाघों का गांव में मूवमेंट हैं. इतनी संख्या में बाघों के ग्रामीण क्षेत्रों में मूवमेंट से दहशत का माहौल है. 20 से 25 बाघों के मूवमेंट की उत्तर वन मंडल डीएफओ गौरव चौधरी ने पुष्टि की है.<span;>इस मामले की सूचना मिलने वन अमला और पुलिस मौके पर पहुंचकर मामले की जांच कर रहे हैं. उत्तर वन मंडल डीएफओ गौरव चौधरी का कहना है कि 9 साल की बच्ची की बाघ के हमले से मौत हो गई है. बाघ की तालाश की जा रही है. आगे की वैधानिक कार्रवाई की जा रही है.