खैरवार गैंगवार का मुख्य आरोपी गैंगस्टर पवन पाठक मध्यप्रदेश के इंदौर में पकड़ाया, क्राइम ब्रांच ने किया गिरफ्तार

खैरवार गैंगवार का मुख्य आरोपी गैंगस्टर पवन पाठक मध्यप्रदेश के इंदौर में पकड़ाया, क्राइम ब्रांच ने किया गिरफ्तार

इंदौर/उमरिया।  बड़ी खबर मध्यप्रदेश के इंदौर से है जहां पर उमरिया खैरवार कांड का मुख्य आरोपी और लगभग 3 साल से फरार गैंगस्टर पवन पाठक को इंदौर की क्राइम ब्रांच ने गिरफ्तार किया है। इसके खिलाफ उमरिया के चंदिया थाना अंतर्गत खैरवार गैगवार के अलावा दर्जनों हत्या, लूट डकैती, फिरौती और गैंगवार के मामले दर्ज हैं।
          दरअसल उमरिया जिले के लिए काली रात के रूप में 13 और 14 दिसंबर 2019 की दरमियानी रात को रेत के कारोबार को लेकर जिले के चंदिया के नजदीक खैरवार में गैंगवार हुआ था। जिसमें गैंगस्टर पवन पाठक सहित उसके गुर्गों ने अंधाधुंध फायरिंग की थी जिसमें एक व्यक्ति की मौत हो गई थी और दो से तीन लोग घायल हुए थे। जिले के इतिहास में इस तरीके का गैंगवार पहली बार देखा और सुना गया जिसमें सैकड़ो राउंड गोलियों की अंधाधुंध फ़ायरिग की गई थी।
          क्षेत्र और समाज के लिए नासूर बन चुके गैंगस्टर पवन पाठक का उमरिया में एंट्री रेत के कारोबार को लेकर शुरू हुआ। यहां के कुछ लोगों के द्वारा रेत का भंडारण लेकर नदियों से रेत उत्खनन कराई जा रहे थी। रेत उत्खनन को लेकर स्थानीय स्तर पर अपना अपना वर्चस्व जमाने के लिए एक गुट दूसरे गुट के सामने आने लगा। जिस कारण एक गुट ने इस कुख्यात गैंगस्टर का सहारा लिया और उसे उमरिया आने का आमंत्रण दे दिया।
          इसके बाद 13 और 14 दिसंबर 2019 की दरमियानी रात जो हुआ वह सभी के सामने था। खैरभार रेत खदान के पास पवन पाठक के गैंग के द्वारा दूसरे निहत्थे गुट पर लगभग 1 घंटे तक सैकड़ों राउंड फायरिंग की गई जिसमें एक व्यक्ति की मौके पर मौत हो गई थी। इसके अलावा 2 से 3 लोग घायल हुए थे घटना के बाद पुलिस को जानकारी मिली और पुलिस ने तमाम आरोपियों के ऊपर धारा 302 सहित गैंगवार का मामला पंजीबद्ध किया गया था। वही आरोपियों ने घटना को अंजाम देकर मौके से फरार हो गए थे जिन्हें पकड़ने पुलिस के पसीने छूट गए लेकिन उनके हाथ में आरोपी नहीं लग सके। काफी दिनों बाद मामले के कुछ सह आरोपी पकड़े गए। लेकिन मुख्य आरोपी गैंगस्टर पवन पाठक फरार हो गया।
          पुलिस के द्वारा उत्तर प्रदेश के उसके कई ठिकानों में छापामार कार्यवाही की लेकिन हर बार पवन पाठक बचकर निकलता रहा। गैंगस्टर पवन पाठक का अपराधों से गहरा नाता रहा है उसके द्वारा दर्जनों से ज्यादा हत्या, लूट, डकैती और फिरौती के मामले विभिन्न थानों में दर्ज हैं और इनाम घोषित है। इसके द्वारा घटना को अंजाम देने के बाद दूसरे प्रदेश में फरारी काटने के उद्देश्य छिप जाता था और जब वहां किसी भी घटना को अंजाम देता तो वह वहां से भागकर दूसरे प्रदेश में चला जाता।
          मिली जानकारी के मुताबिक लंबे वक्त से फरार गैंगस्टर पवन पाठक पिता बद्री पाठक को इंदौर की क्राइम ब्रांच ने गिरफ्तार किया है और उससे पूछताछ की जा रही है।  हालांकि उमारिया पुलिस को गैंगस्टर पवन पाठक के पकड़े जाने की अधिकृत जानकारी नही मिली है। जैसे ही जानकारी मिलेगी उमरिया पुलिस के द्वारा उमरिया के खैरभार में हुए गोलीकांड के संबंध उससे पूछताछ करेगी।