वकील, आत्महत्या और बवाल पर कार्रवाई: हाईकोर्ट में आगजनी और हंगामा मामले में 50 से ज्यादा वकीलों पर FIR दर्ज, पत्रकारों के साथ भी की थी मारपीट

वकील, आत्महत्या और बवाल पर कार्रवाई: हाईकोर्ट में आगजनी और हंगामा मामले में 50 से ज्यादा वकीलों पर FIR दर्ज, पत्रकारों के साथ भी की थी मारपीट

जबलपुर। मध्यप्रदेश की न्यायधानी जबलपुर में वकील अनुराग साहू ने आत्महत्या कर ली। इस घटना के बाद गुस्साए वकीलों ने अनुराग साहू की लाश को लेकर हाईकोर्ट जमकर हंगामा किया और पत्रकारों के साथ भी मारपीट की थी। अब हाईकोर्ट में आगजनी और हंगामे को लेकर 50 से ज्यादा वकीलों पर एफआईआर दर्ज किया गया है।
          दरअसल सिविल लाइन थाने में बलवा, आगजनी, सरकारी काम में बाधा डालने का केस दर्ज किया गया है. एडवोकेट अनुराग साहू की आत्महत्या के बाद विवाद भड़का था। मृतक वकील का शव लेकर वकीक हाईकोर्ट पहुंचे थे। वकील के हंगामे के बाद पुलिस ने लाठीचार्ज किया था। वकीलों ने पत्रकारों के साथ भी मारपीट की थी। जजों के रूम में भी घुसने की कोशिश हुई थी। अब इस मामले की हाईकोर्ट खुद जांच कर रहा है।
          वकीलों ने आरोप लगाया था कि हाईकोर्ट में एक जमानत आवेदन की सुनवाई के दौरान जस्टिस संजय द्विवेदी द्वारा विपरीत टिप्पणी करने पर आहत होकर वकील अनुराग साहू ने आत्महत्या की है। सुसाइड नोट मिलने की भी बात कही जा रही है। वहीं जानकारों का कहना है कि न्यायिक इतिहास में अपनी तरह की यह पहली घटना है। इस तरह की घटना पहले कभी नहीं हुई।