दो महीने से राशन नहीं मिलने पर हितग्राहियों ने किया नगर पालिका का घेराव, कोटेदार पर संगीन आरोप, MLA ने अधिकरियों को लगाई फटकार

दो महीने से राशन नहीं मिलने पर हितग्राहियों ने किया नगर पालिका का घेराव, कोटेदार पर संगीन आरोप, MLA ने अधिकरियों को लगाई फटकार

शहडोल। मध्यप्रदेश सरकार भले ही मुफ्त में राशन बांटने का दावा कर रही हो, लेकिन जमीनी हकीकत कुछ और बयां कर रही है। ग्रामीण क्षेत्र तो छोड़िए शहरी क्षेत्र में भी गरीबों को राशन नहीं मिल पा रहा है। जिसकी एक बानगी शहडोल जिले धनपुरी नगर पालिका क्षेत्र में देखने को मिली। जहां कोटेदार की मनमानी के चलते लोगों को उनके हक का निवाला नहीं मिल रहा है। जिससे नाराज लोगों ने नगर पालिका घेराव कर विरोध जताया तो वहीं इस मामले को लेकर विधायक ने नाराजगी जताते हुए अधिकरियों को फटकार लगाई।
          धनपुरी नगर पालिका क्षेत्र में 5 वार्ड 17,18,19, 20, 22 के लिए संचालित निहारिका क्रय विक्रय समिति शासकीय उचित मूल्य की दुकान से हितग्राहियों को दो माह से राशन नहीं मिला पा रहा है। मंटू नामक कोटेदार हितग्राहियों को पर्ची काटकर उन्हें राशन नहीं देता है। एक माह का राशन दूसरे माह और दूसरे का राशन तीसरे माह देता है। राशन नहीं मिलने से नाराज आदिवासी हितग्राहियों ने आज एक बार फिर नगर पालिका का घेराव कर राशन दिलाने की मांग की। साथ ही राशन दुकान संचालक के खिलाफ कार्रवाई की भी मांग की।
          हितग्राहियों का कहना है कि कोटेदार मंटू राशन की पर्चियां एडवांस में देते हुए बाद में राशन देने की बात कर रहा है। जब भी राशन लेने जाते हैं तो बताया जाता है कि शासन द्वारादुकान पर राशन पर्याप्त मात्रा में नहीं भेजा गया है। इसलिए वह राशन उपलब्ध नहीं करा पा रहा है। लोगों ने दुकान संचालक के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।
          आपको बता दें कि धनपुरी के साथ-साथ जिले के अन्य ग्रामीण इलाकों से भी इस तरह की शिकायतें पहुंच रही है। पीडीएस दुकानों की मॉनीटरिंग विभाग की तरफ से नहीं किए जाने के कारण दुकानदार ग्रामीणों को मनमाने ढंग से राशन का वितरण करते हैं। ग्रमीण इलाकों में राशन वितरण को लेकर बड़ी लापरवाहियां हो रही है। ग्रामणी कई बार प्रशासन के अलावा सीएम हेल्पलाइन में शिकायत दर्ज कराते हैं, लेकिन उसके बावजूद भी व्यवस्था में सुधार नहीं हो रहा है।

Source: online.