मिशन 2023: शहडोल में कमलनाथ ने CM पर कसा तंज, बोले- जहां नदी नहीं वहां भी पुल बनाने की घोषणा कर देते हैं शिवराज

मिशन 2023: शहडोल में कमलनाथ ने CM पर कसा तंज, बोले- जहां नदी नहीं वहां भी पुल बनाने की घोषणा कर देते हैं शिवराज

शहडोल। आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर कांग्रेस ने अभी से कमर कस ली है। 2018 में हारी हुई सीटों पर कांग्रेस अधिक फोकस कर रही है। यही वजह है कि आज पूर्व मुख्यमंत्री और पीसीसी चीफ कमलनाथ शहडोल पहुंचे, जहां उन्होंने आम सभा को संबोधित करते हुए सीएम शिवराज और पीएम मोदी पर जमकर निशाना साधा, साथ ही 2023 के चुनाव में कांग्रेस को समर्थन देने की बात कही।
          प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव के मद्देनजर मध्य प्रदेश कांग्रेस ने आदिवासी वोटरों को साधने की तैयारी शुरू कर दी है। पूर्व सीएम ने शहडोल के गांधी चौक में विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि प्रदेश की सरकार के पास सिर्फ पुलिस, प्रशासन और पैसा बचा है। सीएम शिवराज ने 20 हजार घोषणा की है, जहां नदी नहीं होती, वहां भी पुल बनवाने की घोषणा कर देते हैं। उन्होंने कहा कि 3 साल से तेंदूपत्ता का बोनस नहीं दिया गया, सरकार बनते ही आदिवासियों को तेंदूपत्ता का बोनस का वितरण किया जाएगा। वहीं कमलनाथ ने शिवराज सरकार को चेताते हुए कहा कि 11 महीने बचे हैं। हम सबका हिसाब लेंगे।
          बता दें कि जिस आदिवासी वोट बैंक के बलबुते 2018 में कांग्रेस सत्ता में आई थी, उस वर्ग को साधने के लिए कांग्रेस शहडोल से अभियान शुरू करने जा रही है। शहडोल जिले के राजनीतिक समीकरण की बात करें, तो यह आदिवासी जिला है। यहां पर 3 विधानसभा सीटें हैं और तीनों सीटें आदिवासियों के लिए आरक्षित हैं। वर्तमान में तीनों ही विधानसभा सीटों पर भाजपा का कब्जा है। इन सीटों पर भाजपा कई वर्षों से काबिज है। यही वजह है कि शहडोल में पार्टी संगठन को मजबूत करने के लिए कमलनाथ कोशिश कर रहे हैं।
          शहडोल के जिला अध्यक्ष सुभाष गुप्ता का कहना है कि निकाय चुनाव में कांग्रेस को ऐतिहासिक सफलता मिली है। हमारी कोशिश है कि अगले विस चुनाव में जिले की तीनों सीटों पर कांग्रेस जीत दर्ज करे। पीसीसी चीफ कमलनाथ का यह अहम दौरा है। उनके दौरे से शहडोल के साथ ही आसपास के जिलों में भी कांग्रेस को मजबूती मिलेगी।

Source: online.