शिक्षक बना हैवान,नाबालिक छात्रा को बनाया हवस का शिकार,गर्भवती होने पर कर दी हत्या

शिक्षक बना हैवान,नाबालिक छात्रा को बनाया हवस का शिकार,गर्भवती होने पर कर दी हत्या

शहडोल।  जिले के एक सरकारी स्कूल में अतिथि शिक्षक के रूप में पदस्थ 29 वर्षीय शिक्षक ने एक 14 वर्षीय छात्रा को अपने प्रेम प्रसंग में फंसाकर शारीरिक संबंध बनाने लगा। स्कूल से अलग हो जाने के बाद भी छात्रा से जुड़ाव रहा है।शिक्षक के द्वारा मौका मिलते ही उसे अपने घर बुला लेता या फिर उसके घर खुद चला जाता और अपनी हवस का शिकार बनाता रहा है। बालिका कक्षा 9वीं में पढ़ रही थी। फिर एक दिन अचानक लड़की लापता हो गई और गांव के ही एक कुएं में उसका शव मिला।
          पुलिस जांच में सामने आया कि शिक्षक ने बालिका को कोई जंगली जहरीला फल खिलाकर मार डाला है और मौत के बाद बालिका का शव कुएं में फेंक दिया ताकि वह हत्या के आरोप से बच सके। हत्या करने का कारण बालिका का गर्भवती होना और शादी के लिए दबाव बनाना है।
          मामले का खुलासा करते हुए पुलिस अधीक्षक कुमार प्रतीक ने बताया कि इस मामले की 14 नवंबर को पुलिस चौकी दर्शिमा, थाना जैतपुर में रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी जबकि बालिका की मौत 13 नवम्बर को ही हो गई थी। हत्या का आरोपी बायोटेक बीएससी किया है और अधिक शिक्षक के रूप में गणित पढ़ाता था। एसपी ने बताया कि विवेचना के दौरान जो निष्कर्ष निकला है उसमें पाया गया है कि स्थानीय शिक्षक शिवेंद्र सिंह उर्फ गुड्डा का नाबालिग बालिका के साथ प्रेम प्रसंग रहा है। एसआईटी टीम के द्वारा प्रकरण से संबंधित संदेही शिवेंद्र सिंह उर्फ गुड्डा को पुलिस अभिरक्षा में लेकर पूछताछ की गई है। पूछताछ के बाद यह तथ्य सामने आया कि आरोपी शिक्षक का मृत नाबालिग बालिका से पिछले 1 वर्ष से प्रेम प्रसंग रहा है। आरोपी शासकीय पूर्व माध्यमिक विद्यालय खांडा में अतिथि शिक्षक के पद पर पूर्व में पदस्थ था। इस दौरान उसका परिचय मृत बालिका से हुआ और तभी से वह शारीरिक संबंध बनाते आ रहा था। कुछ दिन पहले बालिका के गर्भवती होने के बाद वह शादी करने के लिए आरोपी शिवेंद्र सिंह से कहा तो उसने बालिका से बोला कि वह अलग जाति का है जिससे शादी होना संभव नहीं है।इसी बात के कारण उसने नाबालिग बालिका को रास्ते से हटा देने की योजना बनाई।
          एसपी ने बताया कि 13 नवंबर को सुबह से ही आरोपी ने मृतिका को बार-बार फोन लगाकर उससे मिलने की बात कर रहा था। फिर शाम को दोबारा फोन लगाकर उसे कुएं के पास मिलने के लिए बुलाया। शाम लगभग 4:00 बजे वह बालिका के घर के पास पहुंचकर उसे बुलाया और वहीं पास के कुएं के पास ले गया इस दौरान उन दोनों कुएं के पास झाड़ियों में छुपकर बातचीत भी की। इस इस दौरान दोनों के बीच गर्भ ठहरने की बात पर थोड़ा विवाद भी हुआ। आरोपी अपने साथ पहले से ही जहरीला जंगली फल लाया था उसने मृतिका को जंगली फल यह कहकर खिलाया कि इससे गर्भपात हो जाएगा। जंगली फल को खाने से उसकी मृत्यु हो गई और आरोपी उस बालिका के शव को कुएं में फेंककर वहां से लापता हो गया। पुलिस ने विवेचना में तत्वो के आधार पर आरोपी के विरुद्ध धारा 376, 376 (2)एन,302,201 ताहि 5/6 के तहत कार्यवाही की गई है।