20 हजार की घूंस लेते MPEB का उप महाप्रबंधक हुआ ट्रेप

20 हजार की घूंस लेते MPEB का उप महाप्रबंधक हुआ ट्रेप

चांदबड़ एमपीईबी ऑफिस का डीजीएम 20,000 रिश्वत  लेते हुए रंगेहाथों धराया।

ट्रान्सफार्मर की फ़ाइल आगे बढ़ाने के एवज में पेटी कांट्रेक्टर से 25 हजार की मांग की गई थी।

भोपाल।  भ्रष्टाचार को समूल नष्ट करने में लोकायुक्त संगठन द्वारा भ्रष्टाचार मुक्त प्रदेश बनाने का महाभियान जोर शोर से जारी है। 

          इसी क्रम में शिकायतकर्ता ठेकेदार शिवशंकर पिता लालता प्रसाद पांडेय, निवासी एम.ए.सी.टी. भोपाल की शिकायत पर शुक्रवार को लोकायुक्त टीम ने बड़ी कार्यवाही को अंजाम दिया है। 

          बता दें कि पुलिस अधीक्षक लोकायुक्त भोपाल सम्भाग  मनु व्यास को शिकायती आवेदन प्राप्त हुआ कि उप महाप्रबंधक (एम.पी.ई.बी.) विशाल उपाध्याय चांदबड़ द्वारा ट्रांसफार्मर की फ़ाइल पर हस्ताक्षर करने और फ़ाइल आगे बढ़ाने के लिए 25,000/- रुपये रिश्वत की मांग की जा रही है। 
      शिकायत सत्यापन उपरांत दिनाँक 17-06-22 को पुलिस अधीक्षक के कुशल निर्देशन में ट्रेप दल अधिकारी निरीक्षक व्ही.के.सिंह ने ट्रेप टीम के साथ बिजली कंपनी के उप महाप्रबंधक विशाल उपाध्याय को चांदबड़ स्थित (MPEB) कार्यालय में 20,000/- रु की रिश्वत लेते रंगे हाथों दबोच लिया है। 

          बताते चलें कि नर्मदापुरम जिले की इटारसी में भी पोस्टिंग के दौरान राजनीतिक संरक्षण प्राप्त विशाल उपाध्याय घूँसफिक्सिंग को लेकर खासी चर्चा में रहे हैं।