चंदिया में 9 घन्टे चला रेल आंदोलन, रेल प्रशासन और क्षेत्रीय संघर्ष समिति के बीच समझौते के बाद आन्दोलनकारियो ने छोड़ा रेल ट्रैक

चंदिया में 9 घन्टे चला रेल आंदोलन, रेल प्रशासन और क्षेत्रीय संघर्ष समिति के बीच समझौते के बाद आन्दोलनकारियो ने छोड़ा रेल ट्रैक

उमरिया । जिले के चंदियारोड रेल्वे स्टेशन में दोपहर 12 बजे से जारी रेल रोको आंदोलन आखिरकार 9 घन्टे के बाद समाप्त कर दिया गया, जिससे 9 घन्टे से जाम पड़ा दक्षिण पूर्व मध्य रेल का कटनी बिलासपुर रेल खंड में रेल यातायात बहाल हो गया, रेल प्रशासन और क्षेत्रीय संघर्ष समिति के बीच लिखित समझौता होने के बाद आंदोलन समाप्त करने की घोषणा हुई और प्रदर्शनकारियों ने रेल ट्रैक से हटना शुरू कर दिया।

          ज्ञात हो कि कोरोनाकाल के समय बंद की गई यात्री ट्रेनों की बहाली और ठहराव को लेकर क्षेत्रीय संघर्ष समिति के द्वारा विगत 05 सितंबर से जारी भूख हड़ताल आज रेल रोको आंदोलन में बदल गई, अल्टीमेटम के मुताबिक दोपहर 12 बजे आंदोलनकारी रेल ट्रैक पर पँहुच गये और रेलों की आवाजाही ठप्प कर दी गई लिहाजा रेल प्रशासन ने भी ट्रैक को छावनी में तब्दील कर आंदोलन को रोकने की कोशिश की, लेकिन हजारों की तादात में रेल पटरियों पर पँहुचे प्रदर्शनकारियो के आगे उनकी एक नही चली और 9 घन्टे तक रेल के पहिये थमे रह गये जिससे सैकड़ो यात्री ट्रेनों के साथ गुड्स ट्रेन प्रभावित हुई यही वजह है कि आखिरकार रेल प्रशासन को आंदोलनकारियो से लिखित में समझौता करना पड़ा तब जाकर रेल यातायात बहाल हो पाया।

मांगे पूरी होने पर झूम उठे आंदोलनकारी

          रेलवे स्टेशन चंदिया के बाहर बीते 16 दिनों से सवारी ट्रेनों के स्टापेज की मांग को लेकर आंदोलन कर रहे क्षेत्रीय संघर्ष समिति के प्रदर्शकारियों ने उस दौरान खुशी जाहिर की जब रेलवे ने उनकी मांगों को पूरी करने का लिखित आश्वासन दिया, संघर्ष समिति के अध्यक्ष मिथलेश मिश्रा ने मौजूद सहयोगी प्रदर्शकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि चंदिया एवं आसपास के गांवों के संघर्ष की जीत हुई है।  इस दौरान प्रदर्शनकारियों के बीच जश्न का माहौल रहा।