जन जातीय कार्य विभाग द्वारा आठ दिवसीय स्काउट प्रशिक्षण शिविर शुरू

Jan 30, 2024 - 21:10
 0  185
जन जातीय कार्य विभाग द्वारा आठ दिवसीय स्काउट प्रशिक्षण शिविर  शुरू

उमरिया। जन जातीय कार्य विभाग द्वारा भारत स्काउट गाइड मध्यप्रदेश की ओर से बालक क्रीड़ा परिसर उमरिया के भरौला में आयोजित 8 दिवसीय स्काउट व गाइड प्रशिक्षण शिविर सोमवार 29 जनवरी से विभिन्न गतिविधियों का आयोजन किया गया है। 

          सहायक आयुक्त अखिलेश पांडेय ने कहा कि विद्यार्थियों के सर्वांगीण विकास में स्काउटिंग की भूमिका अतुलनीय है। संगठन मुस्तैदी से विभिन्न गतिविधियों के माध्यम से शारीरिक, बौद्धिक एवं मानसिक विकास करने का काम कर रहा है। शिक्षा के साथ-साथ संस्कार अत्यावश्यक है । स्काउटिंग के साथ-साथ शिक्षा के क्षेत्र में भी कड़ी मेहनत करके आगे बढ़े और एक लक्ष्य निर्धारित कर चलें और शिविर में व्यसन मुक्त होन का संकल्प ले। साथ ही जिले भर से आये शिक्षकों को शुभकामनाएं दी।।

          भारत स्काउट एवं गाइडस मध्यप्रदेश उमरिया की ओर से बालक क्रीड़ा परिसर में आयोजित आठ दिवसीय अनुसूचित जाति स्काउट व गाइड प्रशिक्षण शिविर के दूसरे दिन मंगलवार 30 जनवरी को विभिन्न गतिविधियों का आयोजन हुआ । आयोजन का मुख्य उद्देश्य बच्चों में शिक्षा के साथ संस्कार और सर्वांगीण विकास के साथ साथ सुनागरिक बनाने का प्रशिक्षण दिया गया । बच्चों में संस्कार निर्माण की उत्तम अवस्था बाल्यकाल है। बच्चों के भविष्य निर्माण की जिम्मेदारी माता-पिता के साथ शिक्षकों की हैं । बच्चों में संस्कार निर्माण के लिए स्कूलों में पाठ्यक्रम की आवश्यकता है। लेकिन सर्वांगीण विकास के लिए अनेक गतिविधियों में भाग लेना पड़ता है।

          प्रशिक्षण प्राप्त करने आये सभी शिक्षक 8 दिन बालक क्रीड़ा परिसर में रह कर प्रशिक्षित होंगे। 8 दिवसीय शिविर संचालन मंडल में शिविर संरक्षण और मार्गदर्शन की जिम्मेदारी डी पी मिश्रा शहडोल को दी गई है जिसमे शिविर संचालक एस एन पाण्डेय सहायक शिविर संचालक एस. नंदन, बी एल चीते, रामदरश पांडेय और राजेश नामदेव है। वही महिला शिविर संचालन की जिम्मेदारी श्रीमती सायरा बानो कुरैशी सिवनी और सहायक में श्रीमती मानसरोवर पांडेय अनूपपुर और श्रीमती सविता तिवारी शहडोल को दी गई है।  कुल 64 प्रशिक्षण में से 32- 32 की 2 टीमें बनाई गई है जिन्हें प्रशिक्षित करके ये अपने अपने विद्यालयों में जाकर स्कूल के विद्यार्थियों को स्काउट में प्रशिक्षित कर सके।।

शिविर के नियम -

  1. स्काउट नियम ही शिविर नियम होगें।
  2. शिविर में टोली प्रणाली को प्रधानता दी जावेगी।
  3. टोली नायक अपनी टोली का नेतृत्व करेगें एवं प्रत्येक कार्यक्रम में पूरी टोली को शामिल करेगे।
  4. समय की पाबन्दी आवश्यक है. समस्त निर्देशों का तत्परता से पालन करें।
  5. टोली नायक अपनी टोली के भोजन नाश्ता जल, निवास स्थल की साफ सफाई की व्यवस्था, शिविर संचालक/टोली कौसलर / क्वार्टर मास्टर के निर्देश के अनुसार करेगें टोली के समस्त सदस्य सहयोग करेगें।
  6. प्रत्येक टोली अपनी ड्यूटी / सेवा कार्य रोटा चार्ट के अनुसार करेगी।
  7. प्रशिक्षणार्थी शिविर संचालक की अनुमति के बिना शिविर परिसर के बाहर नहीं जावेगे।
  8. बिना अनुमति शिविर परिसर केन्द्र की किसी वस्तु का प्रयाग न करें।।
  9. शिविर में स्वछता का विशेष ध्यान रखे। शौच पेशाब हेतु निर्धारित स्थान का प्रयोग करें एवं इनकी स्वच्छता का ध्यान रखें।
  10. अतिथि भेंटकर्ता सर्वप्रथम शिविर संचालक से मिलकर अनुमति पश्चात् शिविर में जायेगे।
  11. अस्वस्थता/दुर्घटना की सूचना तत्काल शिविर संचालक को उचित माध्यम से दी जावे। उल्लेखित नियमो का पालन करते हुए सभी शिक्षक अपने अपने विद्यालयों ने यूनिट बनाकर विद्यार्थियों को प्रशिक्षित करेंगे और नए मध्यप्रदेश और भारत के निर्माण में अपनी महती भूमिका निभाएंगे।

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow