महाकाल प्रोजेक्ट का लोकार्पण जन-जन का कार्यक्रम : सीएम

महाकाल प्रोजेक्ट का लोकार्पण जन-जन का कार्यक्रम : सीएम

सीएम ने की महाकाल मंदिर परिसर विस्तारीकरण के संबंध में सुबह वर्चुअल मीटिंग में समीक्षा….

5 से 11 अक्टूबर तक होंगी गतिविधियाँ

उज्जैन।  सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि महाकाल परिसर विस्तारीकरण के प्रोजेक्ट का पीएम नरेन्द्र मोदी द्वारा लोकार्पण प्रदेश के जन-जन का कार्यक्रम है। प्रदेशवासी और विशेषकर उज्जैनवासी ही इस आयोजन की बागडोर संभालेंगे। लोकार्पण अवसर पर 5 अक्टूबर से गतिविधियां आरंभ होंगी, जो पीएम द्वारा महाकाल प्रोजेक्ट के लोकार्पण के साथ पूर्ण होंगी।
          उज्जैन निवासी हर घर और दुकान में रंगोली और साज-सज्जा करेंगे। बाहर से आने वाले अतिथियों को उज्जैन की सीमा आरंभ होते ही उत्साह, उल्लास के साथ-साथ भक्ति से परिपूर्ण शिवमय वातावरण का अनुभव होगा। विभिन्न सामाजिक संस्थाओं द्वारा भोजन, भंडारे आदि का आयोजन किया जाएगा। आगंतुको के लिए पेयजल, पार्किंग, ठहरने और आकस्मिक स्थिति में उपचार आदि की व्यवस्था के लिए स्वयंसेवी संस्थाएं अपनी सेवाएं देंगी।
          उज्जैन में विभिन्न स्थानों पर देश के अलग-अलग अंचलों के नृतक दल अपनी प्रस्तुतियां देंगे। मुख्यमंत्री चौहान ने महाकाल मंदिर परिसर विस्तारीकरण के लोकार्पण की तैयारियों की संबंध में प्रात: 7 बजे आयोजित बैठक में यह बात कही। मुख्यमंत्री निवास कार्यालय में आयोजित बैठक में वाणिज्य कर एवं वित्त मंत्री जगदीश देवड़ा, पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री ऊषा ठाकुर तथा उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. मोहन यादव वर्चुअली सम्मिलित हुए।
          मुख्यमंत्री ने कहा पूर्ण गरिमा और भव्यता के साथ महाकाल की सवारी निकाली जाएगी, देवस्थानों में कीर्तन, भजन, सुंदरकांड का पाठ होगा। पंडित सुखदेव चतुर्वेदी द्वारा श्लोकों की प्रस्तुति की जाएगी। इसके साथ ही क्षिप्रा आरती, संत-समागम और संतों के सम्मान के लिए कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा। प्रदेश के विश्वविद्यालयों द्वारा धर्म संस्कृति के विभिन्न आयामों पर परिसंवाद भी आयोजित होंगे।

शहर के हर घर और दुकानों पर होगी रोशनी, बनाई जाएगी रांगोली
प्रमुख मंदिरों में विशेष साज-सज्जा होगी
          महाकाल कॉरिडोर प्रथम चरण के लोकार्पण को लोक उत्सव बनाने की तैयारी की जा रही है। लोकार्पण कार्यक्रम के लिए लोगों को पीले चावल देकर न्यौता दिया जाएगा। शहर और मंदिरों में साज-सज्जा की जाएगी, संतों का सम्मान होगा। 
          महाकाल कॉरिडोर लोकार्पण के लोकार्पण अवसर पर उज्जैन सहित प्रदेश के सभी जिलों में प्रमुख मंदिरों की साज-सज्जा की जाएगी। नगर में स्थित 84 महादेव मंदिर की साज-सज्जा के साथ ही कार्यक्रम में विभिन्न समुदायों के प्रमुख प्रतिनिधियों को बुलाने, संतों को आमंत्रित करने, कार्यक्रम से भजन मंडलियों और अखाड़ों को जोडऩे, आमजन को पीले चावल देकर आमंत्रित करने, प्रधानमंत्री के कार्यक्रम के पहले संत सम्मान कार्यक्रम के आयोजन और प्रदेश में विभिन्न नवरात्रि मंडल के माध्यम से महाकाल प्रोजेक्ट के लोकार्पण की सूचना दी जाएगी।
          मुख्यमंत्री द्वारा से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 11 अक्टूबर को उज्जैन प्रवास में महाकाल मंदिर विस्तार परियोजना के लोकार्पण कार्यक्रम की तैयारियों की समीक्षा की जा रही हैं। आमजन को आमंत्रित करने से लेकर कार्यक्रम में हिस्सेदारी के हर पहलू की तैयारी की जा रही है। लोकार्पण कार्यक्रम के प्रदेशभर में प्रसारण के लिए भी आवश्यक व्यवस्थाएं की जा रही हैं। धार्मिक अनुष्ठान करवाने वाले जनजातीय समाज के तड़वी, पटेल, पुजारा और अन्य पुजारी भी लोकार्पण कार्यक्रम से जुड़ेंगे। मुख्यमंत्री इन्हें आमंत्रित करने के संबंध में निर्देश दिए।
          छह दिवसीय कार्यक्रमों की शुरुआत विजयादशमी पर आयोजित भगवान महाकाल की सवारी के साथ हो जाएगी। 6 से 11 अक्टूबर तक निरंतर चलने वाली गतिविधियों की रूपरेखा निर्धारित की गई है। सभी घरों एवं दुकानों में विद्युत सज्जा की जाएगी। प्रमुख चौराहों एवं सड़कों पर विशेष साज-सज्जा की जाएगी। साथ ही महत्वपूर्ण स्थानों पर रंगोली भी बनाई जाएगी।